Category «Sahi Aur Galat»

Attitude is everything – असल मे शेर बनना है तो इसे ज़रूर पढ़ें : Sahi Aur Galat

Attitude hi sabkuchh hai

नमस्कार दोस्तों! मैं Sachin Saigal, मैं कोई मोटिवेशनल स्पीकर या लेखक नही हूँ। मैं भी एक आम इंसान हूँ आप की ही तरह, जो लाइफ मे थोड़ा बहुत सीखा हूँ और जो सिख रहा हूँ, वही शेयर करना चाहता हूँ। आज जो हम बात करने वाले है वो है ये की ; लाइफ मे सबसे …

स्वर संधि क्या होता है – प्रकार, परिभाषा और उदाहरण : Sahi Aur Galat

संधि-स्वर-की-परिभाषा

हिंदी व्याकरण का यह एक खास पाठ है। शुरू करने से पहले यह जानना ज़रूरी है कि – संधि के प्रकार क्या है, संधि क्या होता है ? स्वर संधि स्वर के बाद स्वर आने से जो विकार पैदा होता है, वहाँ पर स्वर संधि होता है। इसे ही स्वर संधि कहते हैं। स्वर संधि …

संधि और संधि के प्रकार : Sahi Aur Galat

संधि और इसके प्रकार

संधि क्या होता है, Sandhi किसे कहते हैं, संधि की परिभाषा। sandhi के ये सारे प्रश्न बनते हैं और इसका जवाब आपको निम्नलिखित से समझ मे भलीभाँति आ जाएगा। ” दो वर्णों के मेल से जो परिवर्तन या विकार होता है, उसे संधि कहते है। “ संधि कितने प्रकार का होता है। ये मुख्यतः निम्नलिखित …

विलोम शब्द – हिंदी के 100 खास शब्दों का अपोजिट : Sahi Aur Galat

Top 100 hindi vilom

विलोम शब्द क्या होता है। विलोम किसे कहते हैं। यह हिंदी व्याकरण का सबसे महत्वपूर्ण विषय है। इसे अंग्रेजी में opposite कहते हैं। वर्ण किसे कहते हैं ? स्वर और इसके प्रकार ? व्यंजन और इसके प्रकार ? किसी शब्द के अर्थ का सीधे उल्टा अर्थ वाले शब्द को विलोम शब्द कहते हैं। निम्नलिखित 100 …

उच्चारण स्थान के आधार पर वर्णों का वर्गीकरण

वर्णों के वर्गीकरण - उच्चारण स्थान के आधार पर

वर्णों का वर्गीकरण उच्चारण के अनुसार भी विभाजित किया जाता है। इन विभाजन को हम निम्नलिखित “उच्चारण स्थान” से समझेंगे। 1) कण्ठ : स्वर – अ, आ, अः स्पर्स व्यंजन – क वर्ग अन्य व्यंजन – ह 2) तालव्य स्वर – इ, ई स्पर्स व्यंजन – च वर्ग अन्य व्यंजन – य, श 3) मूर्धन्य …

पर्यायवाची शब्द – 56 सबसे ज़्यादा इस्तेमाल होने वाले : Sahi Aur Galat

Hindi-synonyms-words

पर्यायवाची शब्द मतलब होता है, ठीक उसी शब्द के अर्थ का कोई दूसरा शब्दनाम। इसे अँग्रेजी में synonyms कहते हैं। निम्नलिखित सारे शब्द के पर्यायवाची शब्द के ठीक वही अर्थ हैं, जो कि मूल शब्द के है। अर्थात सारे मूल शब्द के पर्यायवाची शब्द एक समान है। ज़रूरत पड़ने पर आप इन शब्दों में से …

अयोगवाह वर्ण (अं, अँ, अः) और इसके प्रकार : Sahi Aur Galat

अयोगवाह वर्ण अं, अँ, अः

अयोगवाह निम्नलिखित 3 होते हैं, इसका नामकरण हिंदी के पाणिनी कहे जाने वाले डॉ. किशोरदास बाजपेयी ने किया था। अनुस्वार – ं अनुनासिक – ँ विसर्ग – ः अयोगवाह वर्ण किसे कहते है जिन वर्णों पर अनुस्वार और विसर्ग लगे होते है, उन्हें अयोगवाह वर्ण कहते है। अनुस्वार वर्ण इसके उच्चारण में स्वास नाक से …