सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (CPU) क्या होता है और किसे कहते है ? – SahiAurGalat



सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट मदरबोर्ड मे स्थापित होता है। इसे डेस्कटॉप के मदरबोर्ड से अलग किया जा सकता है, अर्थात ज़रूरत पड़ने आप इसे अपग्रेड कर सकते है। लेकिन लैपटाप और टैबलेट्स के मदरबोर्ड मे से सीपीयू अलग नही किया जा सकता है, मतलब सीपीयू को नहीं बदल सकते है। सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट कंप्यूटर के हर एक मुख्य पुर्जे से आंकिक और तार्किक रूप से जुड़ा हुआ रहता है।

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को सीपीयू, प्रोसेसर, माइक्रोप्रोसेसर आदि नाम से भी जाना जाता है।

“सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट” कंप्यूटर भाषा मेसेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को समझने के लिए फोटो

कंप्यूटर के सारे इनपुट और आउटपुट उपकरण सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट से आंकिक तथा तार्किक संचार व्यवस्था द्वारा एक दूसरे से जुड़े हुये होते है। इसी संचार व्यवस्था के माध्यम से इनपुट/आउटपुट उपकरण हर तरह की डाटा सीपीयू को भेजते रहता है। तथा सीपीयू भी, इनपुट/आउटपुट उपकरण को हर तरह की डाटा का आदान प्रदान करते रहता है।

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट कंप्यूटर के कार्य प्रणाली को बेहतर करने लिए सिस्टम क्लॉक, एड्रेस बस, मेमोरी, सेकंडरी स्टोरेज पर आश्रित रहता है। मदरबोर्ड पर स्थापित सारे माईक्रोचिप्स सीपीयू के लिए सैनिक की तरह काम करते है। सीपीयू अपने कार्य प्रणाली को सुव्यवस्थित करने के लिए इन सभी माइक्रोचिप्स का सहारा लेता है।

मदरबोर्ड पर स्थित सभी माइक्रोचिप्स के समूह को चिपसेट कहते है।

बहुत से कंप्यूटर मे प्रोसेसर दो या दो से अधिक इस्तेमाल किया जाता है। ताकि कंप्यूटर की स्पीड क्षमता बहुत ही तेज हो जाये तथा मदरबोर्ड के चिपसेट और इनपुट/आउटपुट उपकरण से संचार प्रणाली की व्यवस्था बहुत बेहतर हो सके। प्रोसेसर मदरबोर्ड के अलग-अलग हिस्से मे जगह अनुसार स्थापित किए जाते है। अथवा एक-एक प्रोसेसर वाले मदरबोर्ड की संख्या को ज़रूरत के अनुसार बढ़ा कर दो या दो से अधिक कर दी जाती है।

CPU के तीन मुख्य घटक

सीपीयू मे तीन बहुत ही खास घटक होते है जिनका नाम क्रमशः कंट्रोल यूनिट, अरिथमेटिक लॉजिक यूनिट, रजिस्टर्स (मेमोरी यूनिट) होता है। जिनके योगदान से प्रोसेसर हमेशा कार्यान्वित रहता है।

Control Unit

  • कंट्रोल यूनिट, मेमोरी से हर तरह की निर्देश (Instructions) को निकालता है और उन्हे अध्ययन करके कंप्यूटर के कार्य प्रणाली के लिए इस्तेमाल करता है।

Arithmetic Unit

  • अरिथमेटिक लॉजिक यूनिट, सभी आंकिक और तार्किक ऑपरेशन और डाटा को कार्यान्वित (Executes) करता है।

Registers

  • सीपीयू मे स्थित रजिस्टर्स एक अस्थायी गोदाम होता है, जिसे “मेमोरी यूनिट” भी कहते है। जिसका काम संसाधित (processed) होने वाले डाटा और डाटा निर्देश को पकड़ना होता है। फिर प्रोसेसर मे इकट्ठा करना होता है।

सीपीयू का इतिहास

सीपीयू का इतिहास कंप्यूटर मे कुछ बेहतर पाने के उद्देश्य से शुरुआत हुयी थी। जिसे हम पीढ़ी अर्थात अंग्रेजी मे जेनेरेशन कहते है। पीढ़ी दर पीढ़ी कंप्यूटर मे नए-नए बदलाव होते गए, साथ ही साथ उसके पार्ट्स-पुर्जे भी बेहतर तकनीक मे बदलते गए।

सीपीयू कम्प्युटर के लिए दिल और दिमाग की तरह होता है। अर्थात इसमे बदलाव करके कुछ बेहतर बनाना अपने आप मे बहुत बड़ी चुनौती है। इस चुनौती को 4 बार तकनीकीय रूप से बेहतर बनाया गया और पीढ़ी (generation) नाम दिया गया।

जब सबसे पहले कम्प्युटर सीपीयू बनाया गया था, तब उसे वैक्यूम ट्यूब्स जेनेरेशन के नाम दिया गया था। फिर जैसे ही इसे नयी तकनीक मे अपग्रेड किया गया तब इसे, ट्रांजिस्टर्स (transistors) जेनेरेशन नाम दिया गया। इसके बाद इंटीग्रेटेड सर्किट्स जेनेरेशन फिर माइक्रोप्रोसेसर जेनेरेशन आया।

सही और गलत के अनुसार “सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट” क्या होता है

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट कम्प्युटर का दिल और दिमाग होता है, जिसके बिना कम्प्युटर को चला पाना नामुमकिन है। आपने मदरबोर्ड पर बहुत ही ज्यादे संख्या मे बहुत ज़्यादा छोटे और कुछ छोटे-बड़े अजीब चीज़ों को देखा होगा, जिन्हे माइक्रोचिप कहते है।

जैसे हमारे शरीर के सारे नस, दिल और दिमाग से एक कड़ी की तरह जुड़ी हुयी होती है। वैसे ही ये सारे माइक्रोचिप्स सीपीयू से सर्किट द्वारा जुड़े हुये होते है।  तथा माइक्रोचिप्स कम्प्युटर के सभी आंतरिक और बाहरी पुर्जो से जुड़ा हुआ होता है।

अतः माइक्रोचिप्स और आंतरिक-बाहरी पुर्जो की माध्यम से सभी आंकिक और तार्किक निर्देशों को सुव्यस्थित रूप से संचालित करते हुये, “सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट” कम्प्युटर के सारे प्रोग्राम और एप्लिकेशन को चलाता है।




धन्यवाद !

इस पेज के शुरुआत के यानी ऊपर दाहिने तरफ साइडबार में दिए गए सब्सक्राइब विकल्प में ईमेल आई. डी. डालकर आप हमें सब्सक्राइब कर सकते है। ताकि भविष्य में आने वाली हर एक लेख आपको सबसे पहले मिल सके।

आप हमें > फेसबुक | ट्विटर | गूगल + | यूट्यूब < पर फॉलो कर सकते हैं।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.