कोरोना वायरस (Corona Virus) – Covid-19 के रोकथाम, लक्षण, कारण

Corona Virus की एक प्रजाति Covid-19, जो की दिसंबर 2019 मे पहली बार चीन देश के वुहान शहर मे पैदा हुआ। जिसके वजह से पैदा होने वाली महामारी की बीमारी आज पूरे दुनिया भर मे फैल चुकी है।

यह लेख आज मैं 3 अप्रैल 2020 को लिख रहा हूँ। अब तक पूरी दुनिया भर मे लगभग 10.5 लाख मनुष्य covid-19 वायरस के चपेट मे आ चुके हैं। लगभग 53 हज़ार की मृत्यु हो चुकी है। मेरे भारत देश मे लगभग 2069 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जिसमे से 53 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना वायरस जानवरों मे पाया जाता है। इसका नाम इसके बनावट के हिसाब से किया गया था। इसे केवल इलेक्ट्रॉनिक माइक्रोस्कोप से ही देखा जाता है। कोरोना वायरस का ढांचा अँग्रेजी शब्द crown की तरह दिखने के वजह से कोरोना रखा गया।

नोट – सभी वायरस यानी विषाणु को इलेक्ट्रॉनिक माइक्रोस्कोप से ही देखा जाता है और bacteria यानी जीवाणु को नार्मल माइक्रोस्कोप से देखा जाता है।

जानवरों मे पाए जाने वाले संभवतः सभी कोरोना वायरस इंसानों को संक्रमित नही करते हैं।

जीवाणु और विषाणु (Bacteria and Virus) : ज़्यादा जानकारी के लिए इसे पढ़े

Corona Virus के प्रकार

इंसानों मे कोरोना वायरस से संक्रमण की बीमारी पहली बार 1960 के दशक मे देखा गया था। इंसानों मे संक्रमण के आधार पर निम्नलिखित अब तक 7 कोरोना वायरस (corona virus) पाए गए हैं।

  1. अल्फा कोरोना विषाणु – 229E
  2. अल्फा कोरोना विषाणु – NL63
  3. बीटा कोरोना विषाणु – OC43
  4. बीटा कोरोना विषाणु – HKU1
  5. MERS (मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम) – CoV
  6. SARS (सेवेर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम) – CoV
  7. “SARS-CoV-2 (The novel corona virus)” / Covid-19

Covid-19 वायरस : मुद्दे की बात

Corona virus covid 19

यह कोरोना वायरस की एक प्रजाति है। जो दिसंबर 2019 मे पहली बार चीन देश के वुहान शहर मे पाया गया। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन का कहना है की कोविद-19 वायरस से होने वाली बीमारी एक महामारी है।

इस विषाणु से संक्रमित लोगों की संख्या दिन प्रतिदिन पूरे दुनिया मे बढ़ता जा रहा है।

इस बीमारी में कोई भी एंटीबायोटिक्स या एंटीवायरल दवा काम नही करती है।

जानकारी के लिए बता दु की इसका अभी तक (आज 3 अप्रैल 2020 है) कोई भी vaccine यानी टिका नही बना है।

कोविद 19 (corona virus) विषाणु से होने वाली महामारी के लक्षण (symptoms of covid-19 virus)

इस वायरस से होने वाली महामारी के लक्षण सर्दी जुकाम के इर्द गिर्द है। परन्तु कुछ बाते ऐसी हैं जो covid-19 virus से संक्रमित होने का पूर्ण एहसास दिलाती है।

इसके प्रमुख निम्न लक्षण है, जिसके दिखाई देने पर आप covid – 19 के शिकार हो सकते हैं।

  • सुखी खाँसी – dry cough
  • गले मे खराश – sore throat
  • साँस लेने मे तकलीफ – difficulty in breathing
  • बुखार – fever
  • थकावट – tiredness

इसका लक्षण कितने दिनों मे दिखता है

खैर एक्सपर्ट डॉक्टर्स की मानें तो, इसका लक्षण वायरस से संक्रमित व्यक्ति मे 14 दिन के भीतर दिखाई देने लगता है। यह पूर्ण रूप से इंसान के उम्र और शारीरिक स्टैमिना पर निर्भर करता है।

Covid 19 virus कैसे फैलता है (how spreads)

यह किसी भी तरह से इंसान के संपर्क के आने के वजह से फैलता है। लेकिन सवाल यह है की कैसे ? निम्नलिखित पॉइंट्स से समझें !

  • खाँसी और छींक के बूँदों से – किसी संक्रमित व्यक्ति के खाँसने या छींकने के पश्च्यात उसने नाक और मुँह के माध्यम से निकलने वाले सूक्ष्म बूदों मे लाखों की संख्या मे वायरस होते है। जब किसी दूसरे व्यक्ति के ऊपर पड़ता है तब दूसरा इंसान भी संक्रमित हो जाएगा।
  • एक इंसान से दूसरे इंसान के छूने से – संक्रमित व्यक्ति के छींक या खाँसी की बूदों का हाथो पर होने से, दूसरे व्यक्ति को छूते ही संक्रमण हो जाएगा।
  • दूषित वस्तु से – संक्रमित व्यक्ति के दूषित किसी अंग या छींक द्वारा, किसी वस्तु पर फैले संक्रमण के वजह से किसी भी अन्य असंक्रमित व्यक्ति के छूने से संक्रमण हो जाएगा।
  • सामूहिक भीड़ इकट्ठा होने से – भीड़ होने के वजह से संक्रमण के फैलने की उम्मीद ज़्यादा बढ़ जाती है। क्यूंकि उस दौरान किसी भी एक संक्रमित व्यक्ति से बाकी के आसपास के व्यक्तियों को संक्रमण उसके छूने, छींक, खाँसने से तुरन्त फैलेगा।

Covid 19 वायरस को फैलने से कैसे रोकें (prevention of covid-19 virus)

  • फेस मास्क का इस्तेमाल करें जिससे अपने नाक और मुँह अच्छे से ढके रहे।
  • अपने नाक, आँख, मुँह को हाथ से छूने से पहले अपने हाथों को साबुन से अच्छे से स्वच्छ कर लें। हो सके तो छुएं ही नही।
  • संक्रमित व्यक्ति से हमेशा कम से कम 1से 2 मीटर की दूरी बनाकर रहे।
  • किसी भी वस्तु को छूने के बाद अपने हाथ को अच्छे से साबुन या सेनेटाइजर से 20-30 सेकंड तक साफ करें।
  • हर एक व्यक्ति अपने छींक और खाँसी को रुमाल से रोकें। और रुमाल को रोज साफ करके पुनः इस्तेमाल करें।
  • किसी भी दूसरे व्यक्ति का चेहरा मास्क और रुमाल गलती से भी इस्तेमाल ना करें।
  • अगर आपके पास रुमाल नही हो तो, खाँसते या छीकते वक्त अपने कुहनी के माध्यम से रोकें।
  • संभवतः जब तक इसका ईलाज न् निकल जाए, तब तक हर एक व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति के संपर्क मे आने से बचें। चाहे वो परिवार का ही क्यूं न् हो।

Covid 19 वायरस से सबसे ज़्यादा किस वर्ग के इंसान को खतरा है

इस वायरस के वजह से उम्रदराज इंसानों मे खतरा ज़्यादा है। अभी तक के जितने भी मरने के केश सामने आए हैं उनमे से वृद्ध व्यक्ति ज़्यादा है।

जिन व्यक्तियों का हेल्थ कंडीशन हमेशा खराब रहता है (मधुमेह के रोगी, हार्ट के रोगी आदि), उनको बहुत ज़्यादा ध्यान रखने की ज़रूरत है इस महामारी से बचने के लिए।

डॉक्टरों की माने तो यह वायरस कम कार्यप्रणाली क्षमता (Bad Immune Power) वाले इसानों पर ज़्यादा भारी पड़ रहा है।

अगर आप अपने immune पावर को बढ़िया बनाये रखते हैं तो,, आप इस वायरस के बीमारी से लड़ सकते हैं। अर्थात आपके सही होने की उम्मीद ज़्यादा रहेगी।

यह महामारी 10 साल से छोटे उम्र के बच्चों मे कम देखने को मिल रही है।

ध्यान रहे : अगर आप जवान है तो इसका मतलब ये नही की आप को कुछ नही होगा। आपको भी इस वायरस से बचने के लिए उतना ही ध्यान देना पड़ेगा जितना बाकी के लोगों को देना चाहिए।

कोविद 19 (corona virus) के बारे में सही और गलत तथ्य

नीचे बताए गए सारे तथ्य एक्सपर्ट डॉक्टरों द्वारा अभी तक के रिसर्च के अनुसार हैं।

  1. Covid 19 का संक्रमण गर्म और ह्यूमिड यानी नमी क्षेत्रो मे भी संभव है।
  2. सोशल मीडिया मे लहसुन को लेकर एक हवा चली है की ये कोरोना वायरस को नष्ट करता है। लेकिन अभी तक इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण सामने नही आया है।
  3. मच्छर के संक्रमित व्यक्ति को काटने के बाद असंक्रमित व्यक्ति को काटने से संक्रमण नही फैलता है।
  4. Hand dryer से हाथ सुखाने से कोरोना वायरस नही मरता है।
  5. थर्मल स्कैनर से केवल बुखार का तापमान मापा जाता है, अर्थात यह स्कैनर यह निश्चित नही कर सकता है की व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित है या नही।
  6. अल्कोहल के सेवन से ये वायरस नष्ट नही होता है। बल्कि संक्रमित व्यक्ति के लिए नुकसानदेह साबित ज़रूर हो सकता है, क्यूंकि अल्कोहल immune system को कमजोर करता है। जबकि आपको immune system को तो शक्तिशाली रखना है इस बीमारी से लड़ने के लिए।
  7. कोरोना वायरस (कोविद 19) के लिए कोई भी एंटीबायोटिक्स दवा काम नही करता है। क्योंकि एंटीबायोटिक्स केवल जीवाणु यानी bacteria के इस्तेमाल होता है, न् की virus यानी विषाणु के लिए।
  8. पालतू जानवर जैसे कुत्ता, बिल्ली, खरगोश आदि से कोरोना वायरस के फैलने का अभी तक कोई प्रमाण नही मिला है।
  9. किसी संक्रमित व्यक्ति के पूरे शरीर पर अल्कोहल या क्लोरीन लगाने से कोरोना वायरस नही मरेंगे।
  10. गरम पानी से नहाने से कोरोना वायरस नष्ट नही होते हैं।
  11. सूर्य का प्रकाश कोविद 19 को नष्ट नही करता है।
  12. अंत मे : अपने खानपान मे विटामिन युक्त खाद्य पदार्थ का इस्तेमाल करें। सभी खाने पीने के चीजों को अच्छे से धोकर और पका कर खाएं।

धन्यवाद !

Comments 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.