दाद (Ringworm) : कारण, लक्षण और घरेलू उपचार – SahiAurGalat

ringworm

दाद क्या होता है ? (What is Ringworm)

दाद (Ringworm) एक चर्म रोग है। इसे विज्ञान की भाषा में डर्माटोफायोटासिस या टिनिया (Dermatophytosis or Tinea) के नाम से भी जाना जाता है। दाद का संक्रमण किसी कीड़ा (Worm) से नहीं बल्कि कवक (Fungus or Fungi) से होता है। दाद मुख्यतः तीन तरह के कवक से होता है – ट्राइकोफिटन, माइक्रोस्पोरम और एपिडर्मोफिटन (Trichophyton, Microsporum and Epidermophyton), इन तीनों जातियों के लगभग 40 प्रजातियाँ होती हैं। दाद का संक्रमण (Infection) दोनों मनुष्यों और जानवरों को प्रभावित कर सकता है।

और पढें: खाज खुजली (Scabies) होने के: कारण, लक्षण और घरेलू उपचार

दाद होने के कारण और लक्षण (Causes and Symptoms of Ringworm)

1. कारण (Causes)
  • किसी संक्रमित व्यक्ति, जीव, पानी, भोजन या फिर वस्तु से,
  • गर्म या फिर आर्द्र (Humid) जलवायु में रहने से,
  • तंग (Tight) कपड़े के कारण होने वाले पसीने से,
  • शरीर की इम्यून प्रणाली (Immune System) के कमज़ोर होने से ( जैसे की – एचआईवी / एड्स, कैंसर, मधुमेह या दवाईयों का सेवन)।



2. लक्षण (Symptoms)

  • लाल या गुलाबी रंग का खुजलीदार, चकतीदार उठा हुआ परत का दिखाना,
  • खुजली के साथ लगभग गोलाकार छोटी छोटी फुंसियों का होना,
  • त्वचा पर छाला जैसा परत बनाना और फिर घाव बनकर पारदर्शी द्रव का रिसना (ज़्यादातर खुजाने से)
  • अँगूठीनुमा उठा हुआ परत जो किनारे में लाल या गुलाबी रंग का हो।

रामबाड़ घरेलू उपचार (Best Home Remedies for Ringworm)

  1. एक ग्राम देशी कपूर को बिस ग्राम नारियल के तेल में मिलकर घोल लें। इस घोल को रात में सोते समय दाद पर लगाएं।
  2. नींबू के रस के साथ तुलसी के पत्तों को पीस कर दाद पर लगाएं।
  3. दस ग्राम गाय के घी में 1 ग्राम काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर पीने से दाद ठीक हो जायेगा।
  4. पिली कडइल के फल की मींगी पीस कर दाद को खुजला कर लगाने से दाद ठीक हो जाता है।
  5. एक ग्राम राई का चूर्ण दो ग्राम घी में मिलाकर कर दाद पर लगाने दाद ठीक हो जाता हैं।
  6. इमली के बीज को नींबू के रस में पीस कर लगाने से दाद में आराम मिलता है
  7. चकबड़ के बीज को महीन पीसकर लगाने से दाद ठीक हो जाता है।
  8. आक के फूल, इमली के बीज, पंवार के बीज, हरश्रृंगार की पत्ती, पापड़ा, कत्था और पलास इन सभी को बढ़िया से पीस कर चूर्ण बना लें, और फिर दाद पर इसे खट्टे मठ्ठे में मिलाकर लगाने से दाद ठीक हो जाता है।
  9. मूली के बीज, कालीमिर्च, सज्जी,सिंदूर और मेनसिल बराबर मात्रा में पीसकर दही के साथ लगाएं।
  10. दाद पर सिरका और नमक मिलकर लगाना भी लाभकारी है।
  11. कालीमिर्च, राल खुरासानी, माजूफल, मुर्दासंख, सुहागा, अजवायन, कवीला और गन्धक इन सभी का चूर्ण बनाकर नींबू के रस में घोलकर लगाने से दाद सही हो जाता है।
  12. पारा और गंधक की कज्जली करके दोनों के बराबर सुहागे का लावा मिला लें, इसे घी में में मिलाकर लगाने से दाद ठीक जाता है।
  13. राल, सुहागे का लावा, गंधक और पारसी अजवायन इन सभी को साफ़ जल में एक साथ मिलाकर पीस कर लगाने से दाद ठीक हो जाता है।



होम्योपैथिक उपचार (Homeopathic Treatment for Ringworm)

  1. तेलुरियम 6  – शरीर के सभी स्थानों के दाद में फायदेमन्द हैं।
  2. सिपिया 6, 30 – यह दाद के लिये तथा स्त्री की योनि में छोटी-छोटी फुंसियो, पीबयुक्त फोड़ों के लिए  लाभकारी है।

यूनानी उपचार (Greek Treatment for Ringworm)

  1. इतरीफल शाहतरा – दाद में लाभकारी होता है।
  2. मरहम कूबा – दाद के लिए लाभकारी है।
  3. मरहम अब्यज़ – दाद को ठीक कर देता है।
  4. माजून उशवा – दाद के लिए लाभकारी है।

Ringworm होने पर इन बातों का ज़रूर ध्यान रखें

  • हाथों और शरीर का नियमित सफ़ाई रखें।
  • अपनी आस पास की जगहों, चीजों और पालतू जानवरों को साफ सुथरा रखें।
  • सोने से पहले अपने पैरों को ज़रूर धोएं और फिर सुखाकर बिस्तर पर सोएं।
  • टॉयलेट इस्तेमाल करने के बाद हाथ, मुँह, पैर साबुन से बिलकुल अच्छी तरह से धोएं।
  • अपना व्यक्तिगत तौलिया, ब्रश, वस्त्र, कँघी इत्यादि किसी दाद से संक्रमित व्यक्ति के साथ न साझा करें।
  • नहाने के लिए ऐसे साबुन का इस्तेमाल करें जो हल्दी, नीम, तुलसी, गिलोय, घृतकुमारी, आवला, मुसब्बर वेरा (Aloe Vera), चन्दन जैसे चमत्कारी आयुर्वेदिक गुणों से मिलकर बनी हो।
  • ऊपर बताये गए उपचार का ज्यादा इस्तेमाल न करें। अर्थात अगर फायदा नहीं हो रहा है तो, किसी चर्म विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श लें।

धन्यवाद !

इस पेज के शुरुआत के यानी ऊपर दाहिने तरफ साइडबार में दिए गए सब्सक्राइब विकल्प में ईमेल आई. डी. डालकर आप हमें सब्सक्राइब कर सकते है। ताकि भविष्य में आने वाली हर एक लेख आपको सबसे पहले मिल सके।

आप हमें > फेसबुक | ट्विटर | गूगल + | यूट्यूब < पर फॉलो कर सकते हैं।

Comments 5

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.