आदर्श द्रव – What is ideal liquid ? – SahiAurGalat

आदर्श द्रव को परिभाषित करने के लिए फोटो

आदर्श द्रव क्या होता है

आदर्श-द्रव उस द्रव को कहते है जिसका श्यानता (viscosity) और संपीड्यता (compressibility) शून्य होता है। वास्तविकता यह है की पूर्ण रूप से ऐसी कोई भी द्रव नही है जो आदर्श (ideal) हो।

शून्य संपीड्यता (Incompressibility)

जब हम किसी द्रव पर दबाव डालते है, तब अगर उस द्रव के घनत्व या आयतन में परिवर्तन शून्य हो, तो उसे शून्य संपीड्यता वाला द्रव यानी आदर्श द्रव कहते है।

आदर्श द्रव को परिभाषित करने के लिए शून्य संपीड्यता का ग्राफ

श्यानता शून्य (Non Viscosity)

जब किसी भी द्रव के सभी परतों के बीच सापेक्ष गति हो रही हो, तब उस अवस्था में उन परतों के बीच अगर “स्पर्शीय घर्षण बल” शून्य रहे, तो उस द्रव की श्यानता शून्य कही जायेगी। अर्थात उसे आदर्श द्रव कहेंगे।

असल जीवन में अभी तक कोई ऐसी द्रव नही है जिसकी श्यानता पूर्णतः शून्य हो। सभी द्रवों का कम से कम दशमलव में कुछ न कुछ श्यानता होता ही है। पानी को रसायन विज्ञान मे खोज या प्रश्न सिद्धान्त पर बहुत बार आदर्श-द्रव मान लिया जाता है। लेकिन वास्तव मे पानी भी आदर्श नही है।


सही और गलत – केवल हिंदी में “, पर अपना कीमती समय देने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया।

इस पेज के शुरुआत के यानी ऊपर दाहिने तरफ साइडबार में दिए गए सब्सक्राइब विकल्प में ईमेल आई डी. डालकर आप हमें सब्सक्राइब कर सकते है। ताकि भविष्य में आने वाली हर एक लेख आपको सबसे पहले मिल सके।

आप हमें > फेसबुक | ट्विटर | गूगल + | यूट्यूब < पर फॉलो कर सकते हैं।

धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.