विसर्ग संधि और इसके नियम तथा भेद क्या क्या हैं – Sahi Aur Galat

विसर्ग संधि क्या है

जब विसर्ग (:) के बाद स्वर या व्यंजन आये तब विसर्ग मे जो परिवर्तन आता है, उसे ही विसर्ग संधि कहते है। जैसे – यशः + दा = यशोदा स्वर संधि किसे कहते हैं? व्यंजन संधि क्या होता है? विसर्ग संधि के नियम इसके निम्नलिखित सात ‘7’ नियम हैं पहला नियम – ओ का विसर्ग … Read more विसर्ग संधि और इसके नियम तथा भेद क्या क्या हैं – Sahi Aur Galat

संधि और संधि के प्रकार : Sahi Aur Galat

संधि और इसके प्रकार

संधि क्या होता है, Sandhi किसे कहते हैं, संधि की परिभाषा। sandhi के ये सारे प्रश्न बनते हैं और इसका जवाब आपको निम्नलिखित से समझ मे भलीभाँति आ जाएगा। ” दो वर्णों के मेल से जो परिवर्तन या विकार होता है, उसे संधि कहते है। “ संधि कितने प्रकार का होता है। ये मुख्यतः निम्नलिखित … Read more संधि और संधि के प्रकार : Sahi Aur Galat

अयोगवाह वर्ण (अं, अँ, अः) और इसके प्रकार : Sahi Aur Galat

अयोगवाह वर्ण अं, अँ, अः

अयोगवाह निम्नलिखित 3 होते हैं, इसका नामकरण हिंदी के पाणिनी कहे जाने वाले डॉ. किशोरदास बाजपेयी ने किया था। अनुस्वार – ं अनुनासिक – ँ विसर्ग – ः अयोगवाह वर्ण किसे कहते है जिन वर्णों पर अनुस्वार और विसर्ग लगे होते है, उन्हें अयोगवाह वर्ण कहते है। अनुस्वार वर्ण इसके उच्चारण में स्वास नाक से … Read more अयोगवाह वर्ण (अं, अँ, अः) और इसके प्रकार : Sahi Aur Galat