सिर के सफ़ेद बाल का इलाज : white hair treatment in Hindi – SahiAurGalat

सफ़ेद बाल के ईलाज का फोटो
सिर के सफ़ेद बाल

सिर के बाल 25 साल के उम्र से पहले सफ़ेद होने शुरू हो जाएँ, तो इसे “असामयिक (premature)” यानी समय से पहले बालों का सफ़ेद होना कहते हैं।

समय के साथ हमारी उम्र भी बढ़ती रहती है। नतीजन हमारे शरीर की हर एक भाग बूढ़ी होती जाती है। ठीक इसी तरह हमारे काले बाल भी बूढ़े होकर सफ़ेद बाल मे परिवर्तित होने लगते हैं।

बालों की जड़ो में “रंगद्रव्य कोशिकायें (pigment cells)” होती हैं जिसे मेलेनिन (melanin) कहते हैं। इन्ही रंगद्रव्य कोशिकायों की वजह से हमारे बाल काले सुनहरे रहते हैं। जब रंगद्रव्य कोशिकाओ के माध्यम से बालों की जड़ो में नहीं पहुच पाते हैं, तब सफ़ेद बाल होने लगते हैं। जिसे विज्ञान की भाषा में “मेलेनिन की कमी या नष्ट” होना कहते हैं।

अच्छी बात यह है की अगर आपके बाल सचमुच में मेलेनिन की कमी से सफ़ेद हो रहे हैं, तो इसे ठीक किया जा सकता है। और यदि आपके बाल उम्र के साथ मेलेनिन के नष्ट होने की वजह से सफ़ेद हो रहे हैं तो इसे संभवतः फिर से काला कर पाना मुश्किल हो सकता है।

असामयिक सफ़ेद बाल होने के कारण

  • अगर आपके माता-पिता अथवा दादा के भी बाल संभवतः इसी उम्र में सफ़ेद हुए होंगे, तब यह सबसे पहला ख़ास कारण हो सकता है। जिसे अनुवंशिकीय लक्षण कहते हैं।
  • विटामिन B-12 की कमी के कारण। ऐसे खाने पिने की चीज़ इस्तेमाल करें, जिससे बराबर मात्रा में विटामिन B-12 मिल सके।
  • दिमागी तनाव (Tension) के कारण।
  • शरीर में असंतुलित हारमोन्स के कारण। जैसे – मधुमेह (diabetes) के वजह से।
  • अधिक एल्कोहॉल और धुम्रपान के इस्तेमाल के कारण।
  • लंबे समय तक अस्वस्थ शरीर होने के कारण।

रामबाड़ घरेलू उपचार (Best Home Remedies)

  • गाजर का जूस सफ़ेद बालों के लिए बहुत लाभकारी होता है। रोज सुबह नास्ता के दौरान 1 गिलास गाजर का जूस लेने से आपके असामयिक सफ़ेद बाल काले हो जायेंगे।
  • नींबू का रस और आंवला का पावडर एक साथ मिलाकर लेप तैयार करें। फिर इसे अपने पुरे बालों में अच्छी तरह से लेप लगायें। 1 घंटे बाद बढ़िया से साफ पानी से धो लें। लेप सप्ताह में 3 बार लगायें। ऐसा करने से आपके सफ़ेद बाल काले उगने लगते हैं।
  • नींबू का रस और शुध्द नारियल का तेल एक साथ मिलाकर अपने बालों में अच्छी तरह से मालिश करें। फिर 1 घंटे बाद अच्छे से शैम्पू कर लें। यह प्रक्रिया सप्ताह में 3 बार ज़रूर करें।
  • तोरई (Luffa acutangula) के छोटे छोटे टुकड़े काटकर नारियल से तेल में 2-3 दिन के लिए रख दें। फिर इन दोनों मिश्रण को तब तक आंच पर उबालें, जब तक तोरई के टुकड़े काले न हो जाएँ। इसे छानकर कर एक शीशी में भर लें। नहाने से पहले अपने बालों में लगायें, फिर अच्छी तरह से धोकर साफ कर लें। आपके सफ़ेद बाल ज़ल्द ही कम होने लगेंगे।
  • काले तिल (black sesame) के बिज को अच्छे से पीसकर आंवला या करौंदा के तेल में मिला लें। फिर अपने बालों में बढ़िया से लेप लगायें। 1 घंटे बाद धोकर साफ कर लें। यह प्रक्रिया सप्ताह में 2 से 3 बार करें।
  • मेंथी का पावडर और नारियल का तेल एक साथ मिलाकर लेप तैयार करें। फिर अपने बालों में अच्छे से लगाकर आधा घंटे तक छोड़ दें। अंततः पानी से धोकर साफ कर लें। यह प्रक्रिया का इस्तेमाल सप्ताह में 2 से 3 बार करें। (अगर आपके पास मेंथी का पावडर नहीं उपलब्ध हो पा रहा है तो, हरे मेंथी के पत्तो या बीज को धोकर पिस लें। फिर इन्हें सुखाकर पाउडर तैयार कर लें।) 
  • करी के पत्तो (curry leaves) को नारियल के तेल में मिलाकर अच्छे से उबाल लें। फिर पत्तों को मिश्रण से बाहर कर ठंडा हो जाने पर अपने बालों में मालिश करें। लगभग 1 घंटे बाद शैम्पू कर साफ कर लें।
  • रात के वक्त आंवला और शिकाकाई बराबर मात्रा के लेकर किसी साफ बर्तन में पानी के साथ भिगो दें। सुबह अच्छी तरह से दोनों को छानकर पानी से अलग कर लें। फिर इन्हें पीसकर एक बढ़िया सा लेप तैयार करें। तत्पश्च्यात इस लेप को अपने बालों में अच्छे से लगायें। आधे-पवना घंटे बाद अच्छे से धो लें, और नारियल के तेल से बालों को मालिश कर लें।
  • रोज सोने से पहले एक चम्मच आंवले का चूर्ण पानी के साथ लेते रहने से, बहुत ही लम्बे उम्र तक बाल सफ़ेद नहीं होते हैं।



एक्युप्रेशर उपचार (Acupressure Treatment)

  • दोनों हाथों की उँगलियों के नाखूनों को रोज 4-5 बार लगभग 4-5 मिनट तक आपस में तेजी से रगड़ें। ऐसा करने से बाल से संबंधित सभी समस्याएं ठीक होने लगती हैं।

योग उपचार (Yoga Treatment)

  • अपने बाल को लंबे समय तक काला रखने के लिए रोज सुबह शीर्षासन और सर्वांगासन किया करें।
  • अगर आप अपने असामयिक सफ़ेद बाल से निजात पाना चाहते हैं तो, रोज प्रतिदिन लगभग आधा से 1 घंटे तक शीर्षासन और सर्वांगासन करें।

सफ़ेद बालों के लिए शीर्षासन-और-सर्वांगासन


इन बातों का ज़रूर ध्यान रखें

  • हरी साग सब्जी, सलाद, जिंक और कॉपर रहित खनिज पदार्थ का खाने में ज्यादा इस्तेमाल करें।
  • रोज शारीरिक व्यायाम अथवा योगा या फिर दोनों ज़रूर करें। इससे आपका दिमाग और शरीर दोनों सही तरीके से काम करेगा, जो की बालों की सफेदी रोकने के लिए ज़रूरी है। अगर दिमाग सही रहेगा तब दिमागी तनाव नहीं होगा। तथा शरीर सही रहेगा तब मधुमेह, शारीरिक कमजोरी जैसे बीमारी नहीं रहेगी।
  • अपने बालों को नियमित रूप से तेल से मालिश करते रहें। आंवला का तेल ज्यादा लाभकारी होता है।
  • अपने दैनिक जीवन के खान-पान में फल और फलों के रस (juice) का हमेशा इस्तेमाल करें।
  • शराब और धुम्रपान का न के बराबर इस्तेमाल करें।
  • आयोडीन युक्त नमक का इस्तेमाल करें। यह थायराईड सम्बन्धी विकार को ठीक करता है। जो बालों के लिए बहुत ज़रूरी होता है।
  • ऊपर बताये गए उपचार का ज्यादा इस्तेमाल न करें। अर्थात अगर फायदा नहीं हो रहा है तो, किसी बालों से संबधित विशेषज्ञ या डॉक्टर से परामर्श लें।



सिर के बालों का झड़ना, रुसी का इलाज और नये बाल उगाने के उपाय <<== पढ़ने के लिए क्लिक करें


धन्यवाद !

इस पेज के शुरुआत के यानी ऊपर दाहिने तरफ साइडबार में दिए गए सब्सक्राइब विकल्प में ईमेल आई डी. डालकर आप हमें सब्सक्राइब कर सकते है। ताकि भविष्य में आने वाली हर एक लेख आपको सबसे पहले मिल सके।

आप हमें > फेसबुक | ट्विटर | गूगल + | यूट्यूब < पर फॉलो कर सकते हैं।

Comments 5

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.